National Conference chairman Farooq Abdullah

राहुल गांधी से चंद्रबाबू नायडू ने की मुलाकात, ‘लोकतंत्र बचाओ’ का दिया नारा

आने वाले विधानसभा चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनावों से पहले विपक्षी दलों के बीच आपसी मतभेद को सुलझाने का दौर शुरू हो गया है. इसी कड़ी में तेलुगू देशम पार्टी (टीडीपी) के अध्यक्ष और आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने आज राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष शरद पवार और नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला के साथ मुलाकात की. इस मुलाकात के बाद अटकलें लगाई जा रही हैं कि टीडीपी बीजेपी के खिलाफ बन रहे मोर्चे में शामिल होंगे.

चंद्रबाबू नायडू कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात करेंगे

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आज शाम को ही चंद्रबाबू नायडू कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी मुलाकात करेंगे. उम्मीद है कि वह राहुल गांधी से मिलने के बाद सीताराम येचुरी से भी 2019 लोकसभा चुनाव में महागठबंधन के लिए रणनीति बनाने को लेकर मुलाकात कर सकते हैं. शरद पवार और फारूक अब्दुल्ला से मुलाकात करने के बाद नायडू ने कहा- हमने दिल्ली में मिलने का फैसला किया ताकि देश के भविष्य को बचाने के लिए योजना बनाई जा सके. बता दें कि टीडीपी ने इस साल एनडीए से अपना नाता तोड़ लिया था. इसकी वजह केंद्र सरकार द्वारा आंध्र प्रदेश को विशेष राज्य का दर्जा न देना था.

चंद्रबाबू नायडू अपनी पार्टी के नेताओं से बात करेंगे

वहीं मुलाकात के बाद शरद पवार ने कहा- हाल ही में सीबीआई, ईडी और आरबीआई की हालत देखिए. सब अपना सम्मान खो रहे हैं. उन्होंने कहा- इस समय में ‘लोकतंत्र को बचाओ, देश को बचाओ’ नारे की जरूरत है. शरद पवार ने कहा- चंद्रबाबू नायडू अपनी पार्टी के नेताओं से बात करेंगे और मींटिंग कर कोई बड़ा फैसला लेंगे.सूत्रों के अनुसार तेलंगाना विधानसभा चुनाव में केसीआर को हराने के लिए टीडीपी और कांग्रेस ने अपनी दुश्मनी भुला दी है.

ये भी पड़ें:  दीपिका ने शादी के लिए खरीदा इतना महंगा मंगलसूत्र, कीमत जानकर चौंक जाएंगे आप

नायडू अलग-अलग दलों को एकजुट करने का काम करेंगे

माना जा रहा है कि 2019 के आम चुनाव में बीजेपी को पटखनी देने के लिए वो ऐसा ही करेंगे. टीडीपी ने एक आधिकारिक बयान में देश के बदलते राजनीतिक हालत में किसी बड़ी घोषणा किए जाने का इशारा किया था. पार्टी ने यह भी कहा कि नायडू बीजेपी के खिलाफ समान विचारधारा वाली पार्टियों को एक मंच पर लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं. बयान में यह भी कहा गया कि देशहित में नायडू बीजेपी और एनडीए गठबंधन को हराने के लिए अलग-अलग दलों को एकजुट करने का काम करेंगे.

[sc name=”SOCIAL LINK”]